काशीपुर में श्री विश्वनाथ और मां जगदीशशिला की डोली रथ यात्रा: श्रद्धालुओं ने की उनका जोरदार स्वागत।

ख़बर शेयर करें -

काशीपुर में श्री विश्वनाथ और मां जगदीशशिला की डोली रथ यात्रा: श्रद्धालुओं ने की उनका जोरदार स्वागत।

 

 

उधम सिंह राठौरप्रधान संपादक

 

काशीपुर में आज उत्तराखंड की प्रसिद्ध भगवान श्री विश्वनाथ एवं मां जगदीशशिला डोली रथ यात्रा आज काशीपुर पहुंची। इस यात्रा के आज दोपहर काशीपुर पहुंचने पर श्रद्धालुओं ने जोरदार स्वागत किया। यात्रा का स्वागत कार्यक्रम रामनगर रोड पर मेहरोत्रा इंटरप्राइजेज पर आयोजित किया गया।

 

 

 

– डोली रथयात्रा के मुख्य पुरोहित उत्तराखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी रहे। इस दौरान रथयात्रा के मुख्य पुरोहित मंत्री प्रसाद नैथानी ने इसके पौराणिक महत्व के बारे में बताया कि विशोन पर्वत में धर्मगुरुओं ने तपस्या की उसके बाद स्वामी रामतीर्थ ने तपस्या की उस स्थान से यह डोली चलती है। पिछले 24 वर्षों से हर साल यह डोली यात्रा चलती है। इन वर्ष 25 वीं यात्रा निकाली जा रही है। विश्व कल्याण, देव संस्कृति जीवित रखना, चार धाम के अलावा उत्तराखंड प्रदेश में अन्य शक्तिपीठों की पहचान कराना और उन्हें प्रचार के माध्यम से धाम बनाने के स्वरूप को तैयार करना इस यात्रा का उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड में अनेक ऐसे शक्तिपीठ हैं जहां आम लोगों की आस्था जुड़ी हुई है तथा उनकी मदद से पूरी होती है लेकिन उन शक्तिपीठों की कोई पहचान नहीं है। यह डोली हर साल साढ़े 10 हज़ार किलोमीटर की यात्रा करती है। 2200 देवालयों की परिक्रमा करते हुए हरिद्वार में स्नान करके विशोन पर्वत पर पहुंचकर समाप्त होगी।

यह भी पढ़ें 👉  दूरस्थ क्षेत्रों में बिजली सुधार हेतु लगेंगे कैंप, इस बार कैंची धाम में बेहतर रही व्यवस्था : सीएम

 

 

 

इस वर्ष यह यात्रा आगामी 16 मई को यह यात्रा हरिद्वार से शुरू होकर देहरादून, उत्तरकाशी, टिहरी, पौड़ी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, चंपावत, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, नैनीताल से होते हुए ऊधम सिंह नगर जिले में प्रवेश की है। उन्होंने कहा कि आगामी 16 जून को गंगा दशहरा के पर्व पर यह यात्रा विशोन पर्वत पर पहुंचकर यह यात्रा संपन्न होगी। 1 माह तक निकाली जाने वाली यह देवयात्रा काशीपुर से अपने अगले पड़ाव जसपुर होते हुए हरिद्वार के लिए रवाना हो गयी।

यह भी पढ़ें 👉  कॉर्बेट पार्क में राज्यपाल का दिखे हाथी और बाघ, वन्यजीव प्रेमियों के लिए रोमांचकारी जंगल: राज्यपाल

 

 

 

 

इस मौके पर अर्पित मेहरोत्रा, श्रीमती वीना मेहरोत्रा, अलका पाल, इंदुमान, गीता चौहान, त्रिलोक सिंह अधिकारी, जितेंद्र सरस्वती, सुरेश शर्मा जंगी, अरुण चौहान, विमल गुड़िया, सन्दीप सहगल, सचिन नाडिग, मनोज जोशी, मंसूर अली आदि सैकड़ों श्रद्धालुओं ने आशीर्वाद प्राप्त किया।

error: Content is protected !!