बाघ से सुरक्षा को लेकर ग्रामीणों ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन।

ख़बर शेयर करें -

बाघ से सुरक्षा को लेकर ग्रामीणों ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन।

 

उधम सिंह राठौर  – प्रधान संपादक

 

 

कोर्बेट नेशनल पार्क और वन विभाग के खिलाफ आज फिर लोगों का आक्रोश फूट गया। आक्रोशित लोगो ने ढेला और झिरना रोड पर जाम लगाया जाम। गोरतलब है की कोर्बेट नेशनल पार्क और वन विभाग तराई वेस्ट की सीमा से लगे आधा दर्जन गाँव मे बाघ और गुलदार का आतंक व्याप्त हो गया है।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और देश व प्रदेश की खुशहाली की कामना की।

 

 

 

गाँव की एक महिला और कई पालतू जानवरो को अपना निवाला बना चुके बाघ और गुलदार के आतंक और दहशत के खिलाफ आज ग्रामीण सड़को पर उतर आये और रामनगर से ढेला जाने वाली रोड पर जाम लगा दिया ।बता दे कि कॉर्बेट व तराई पश्चिमी वनप्रभाग से लगे कानिया गांव व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में दो मवेशियों को बाघ के मारने के बाद ग्रामीणों में दहशद का माहौल है। जिसके बाद ग्रामीणों ने वनविभाग के खिलाफ प्रदर्शन कर जाम लगा दिया है। बुधवार को ग्रामीणों ने ढेला, झिरना रोड पर प्रदर्शन किया। गुस्साए लोग

यह भी पढ़ें 👉  "अयोध्या दर्शन: पुष्कर सिंह धामी ने अपने मंत्रिमंडल के साथ की यात्रा।

 

 

 

सड़क पर बैठ गए। इससे सड़क की दोनों ओर लंबा जाम लगा दिया। महिलाओं ने वनविभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इससे पुलिस को मौके पर आना पड़ गया। ग्रामीण वनविभाग के अधिकारियों को धरना स्थल पर बुलाने की मांग कर रहे थे, उन्होंने बताया कि शाम होते ही बाघ उनके खेतों के आस पास दिखने लगता है।जिससे डर का माहौल बना हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  आयुष्कामिय चिकित्सा शिविर: हल्द्वानी में आयुर्वेदिक और होमियोपैथिक चिकित्सा सेवाओं का आयोजन"

 

 

वहीं कोर्बेट प्रशासन अब इस मामले को गंभीरता से ले रहा है और सुरक्षा की टीमे बढा दी गयी है,साथ ही लगातार मोनिटरिंग भी की जा रही है।

error: Content is protected !!